वायरल आंत्रशोथ का इलाज

वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस एक ऐसा संक्रमण है जिसमें दस्त और उल्टी होती है। यह तब होता है जब किसी व्यक्ति के पेट और आंत में एक वायरस से संक्रमण यानी के इंफ़ेक्स्श्न (Infection) हो जाता है। वयस्कों और बच्चों — इन दोनों प्रकार के लोगों को वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस हो सकता है।

लोगों को यह संक्रमण तब हो सकता है जब वे:

  • किसी संक्रमित — यानी के इंफ़ेकटेड (infected) — व्यक्ति या कोई ऐसी सतह को स्पर्श करें जिस पर यह वायरस हो, और उसके बाद उन्होंने अपने हाथ धोएं न हो। 
  • वायरस से संक्रमित खाद्य पदार्थ खाएं या तरल पदार्थ पीएं। यदि वायरस से संक्रमित (इंफ़ेकटेड) लोग अपने हाथ धोते नहीं हैं, तो वे जिस भोजन या तरल पदार्थों को छूते हैं, वे उसमें वायरस का संक्रमण फैला सकते हैं।
  • संक्रमण के कारण दस्त और उल्टी होती है। लोगों को दस्त या उल्टी, या दोनों भी हो सकते हैं। ये लक्षण आमतौर पर अचानक शुरू होते हैं, और गंभीर भी हो सकते हैं।

    वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस के कारण निम्न प्रकार के लक्षण दिखते या मेह्सूस हो सकता है:

    • बुखार
    • सिरदर्द या मांसपेशियों में दर्द
    • पेट दर्द या ऐंठन
    • भूख कम लगना

    यदि आपको दस्त और उल्टी होती है, तो आपका शरीर बहुत अधिक पानी खो सकता है। डॉक्टर इसे “निर्जलीकरण” (dehydration) कहते हैं। निर्जलीकरण के कारण आपको गहरे पीले रंग का मूत्र हो सकता है, साथ ही साथ  अधिक प्यासा, या फिर थका हुआ, चक्कर आना, या भ्रमित भी महसूस कर सकते हैं।

    गंभीर निर्जलीकरण आपके जीवन के लिए खतरा बन सकता है। शिशुओं, छोटे बच्चों, और बुजुर्गों को गंभीर निर्जलीकरण होने की अधिक संभावना होती है।

आमतौर पर नहीं। आपके लक्षणों के बारे में जानने के बाद, और एक परीक्षा या टेस्ट करने से ही, आपके  डॉक्टर या नर्स यह निश्चय कर सकते हैं। लेकिन निर्जलीकरण की जाँच करने या यह देखने के लिए कि कौन से वायरस के कारण संक्रमण हो रहा है, डॉक्टर या नर्स परीक्षण (टेस्ट) करवेन को कह सकते हैं।

इन परीक्षणों में निम्न में से हो सकते हैं:

  • रक्त टेस्ट यानी के ब्लड टेस्ट (Blood Test)
  • मूत्र टेस्ट यानी के यूरीन टेस्ट (Urine Test)
  • मल त्याग के नमूने का टेस्ट (Stool Test)
  • हाँ। वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस से संक्रमित लोगों को पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ पीने की अधिक जरूरत होती है, ताकि वे निर्जलित न हों।

    कुछ तरल पदार्थ हैं, जो दूसरों की तुलना में निर्जलीकरण को रोकने में अधिक मदद कर सकते हैं:

    • बड़े बच्चे और वयस्क स्पोर्ट्स ड्रिंक पी सकते हैं।
    • आप शिशुओं और छोटे बच्चों को “ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन” (oral rehydration solution) दे सकते हैं, जैसे कि पेडियालाइट (Pedialyte)। आप इसे किसी भी स्टोर या फ़ार्मेसी में खरीद सकते हैं। यदि आपका बच्चा उल्टी कर रहा है, तो आप अपने बच्चे को हर कुछ मिनट में कुछ मात्रा में तरल पदार्थ देने की कोशिश कर सकते हैं।
    • स्तनपान करने वाले बच्चे स्तनपान कराना जारी रख सकते हैं।

    वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस से पीड़ित लोगों को जूस या सोडा पीने से टालना चाहिए। ये दस्त को बदतर बना सकते हैं।

    यदि आप भोजन को हज़म कर सकते हैं, तो लीन मीट, फल, सब्जियां, और साबुत अनाज वाली ब्रेड और अनाज खाना सबसे अच्छा है। बहुत अधिक वसा (चरबी) या चीनी वाले खाद्य पदार्थ खाने से टालें, जो लक्षणों को और बदतर बना सकते हैं। यदि आप 65 वर्ष से कम आयु के वयस्क हैं, और आपको नए तौर से दस्त हुआ है, लेकिन आपके मल त्याग में कोई रक्त नहीं है, या फिर आपको बुखार नहीं है। तभी आप 1 से 2 दिनों के लिए लोपरामाइड (loperamide) नामकी दवाई दस्त रोकने के लिए ले सकते हैं। यदि आपकी आयु 65 वर्ष से अधिक हैं, और आपको बुखार है, या आपके मल त्याग में खून है, तो अपने चिकित्सक से जांच किए बिना इन दवाईओं को न लें।

    बच्चों को दस्त रोकने के लिए कोई भी दवाइयाँ न दें

डॉक्टर या नर्स बुलाएँ यदि आपको या आपके बच्चे को:

  • निर्जलीकरण के कोई भी लक्षण हैं
  • दस्त या उल्टी होती है जो कुछ दिनों से अधिक समय तक रहती है
  • खून की उल्टी होती है, खूनी दस्त होता है, या पेट में गंभीर दर्द होता है
  • बच्चों ने (कुछ घंटों तक), या वयस्कों ने (कई घंटों तक) अगर कुछ भी पिया नहीं हो 
  • पिछले 6 से 8 घंटो में (एक पूरे दिन में) पेशाब करने की आवश्यकता नहीं हुई है, या यदि आपके बच्चे या छोटे बच्चे को 4 से 6 घंटे तक डायपर गीला नहीं हुआ है।

अधिकांश लोगों को किसी भी उपचार की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि उनके लक्षण अपने आप ही बेहतर हो जाएंगे। लेकिन गंभीर निर्जलीकरण वाले लोगों को अपने निर्जलीकरण के लिए अस्पताल में उपचार की आवश्यकता हो सकती है। इसमें, एक “IV” (एक पतली ट्यूब जो नस में जाती है) के माध्यम से तरल पदार्थ प्राप्त करना शामिल है।

डॉक्टर एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग करके वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस का इलाज नहीं करते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि एंटीबायोटिक्स सिर्फ़ बैक्टीरिया के कारण होने वाले संक्रमण का इलाज करते हैं। वह वायरस का इलाज नहीं कर सकती हैं। और वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस बैक्टीरिया से नहीं लेकिन वायरस से होता है।

हाँ, कभी कभी। संक्रमण होने या फैलने की संभावना कम करने के लिए, आप ऐसा कुछ कर सकते हैं:

  • बाथरूम का उपयोग करने के बाद या अपने बच्चे के डायपर को बदलने के पश्चात, और कभी भी खाना खाने से पहले, अपने हाथों को साबुन और पानी से घिस कर, अच्छे से धोएं।
  • जहाँ आप खाना बनाते हैं, उसके आस-पास अपने बच्चे का डायपर बदलने से टालें।
  • सुनिश्चित करें कि आपके बच्चे को रोटावायरस वैक्सीन यानी के रसी (rotavirus vaccine) मिले। टीके कुछ गंभीर या घातक संक्रमणों को रोक सकते हैं। रोटावायरस, एक ऐसा वायरस है जो आमतौर पर बच्चों में वायरल गैस्ट्रोएन्टेरिटिस के संक्रमण का कारण बनता है।
Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Dr. Harsh J Shah