...

इलियोस्टोमी की देखभाल

इलियोस्टोमी की देखभाल का इलाज

आपके शरीर के अंदर की आंतों में से अपशिष्ट उत्पादों (यानी के मल) को बाहर निकालने के लिए जब डॉक्टर आपके पेट में एक छेद बनाते हैं, उसे इलियोस्टॉमी (Ileostomy) कहते हैं। चिकित्सा की भाषा में इस इलियोस्टोमी को कभी-कभी “स्टोमा” (stoma) भी कहा जाता है। “स्टोमा” का अर्थ होता है — “खोलना”। जब आप इलियोस्टोमी करवाते हैं, आपकी आंतों में से अपशिष्ट उत्पाद या मल रंध्रों में से निकलकर इस “स्टोमा” के द्वारा, आपकी त्वचा से जुडी हुई एक बैग में भर जाएगा। 

  • इलियोस्टोमी करवाने के बाद, आंतों में बैग में गुजरने वाले अपशिष्ट उत्पाद (मल), सामान्य मल की तुलना में बार-बार होते हैं एवं अधिक शिथिल भी होते हैं।

एक विशेष चिकित्सक (जिनहें ओस्टियोमी डॉक्टर कहा जाता है) आपको सिखाएँगे कि आप अपने इलियोस्टोमी की देखभाल कैसे कर सकते हैं। वह आपको सिखाएँगे कि:

  • बैग कब और कैसे खाली करना है
  • नया बैग कब और कैसे रखें
  • समस्याओं के लिए अपने “स्टोमा” की जांच कैसे करें

विभिन्न प्रकार के इलियोस्टोमी बैग होती हैं, जिनका लोग उपयोग कर सकते हैं। आप कुछ प्रकार के बैग को खाली, साफ, और पुन: उपयोग कर सकते हैं। अन्य प्रकारों के बैग को प्रत्येक उपयोग के बाद फेंक देना पड़ता है। 

आपको चिंता हो सकती हैं कि “क्या आपका बैग लीक हो जाएगा?”, या कि “अन्य लोग आपके मल त्याग को यदि सूंघ लेंगे तो क्या होगा?”। लेकिन ऐसा बहुत कम बार होता है। “स्टोमा” वाले बैग ऐसे बनाए जाते हैं, ताकि उनमें से कभी भी रिसाव या गंध बाहर आ ही ना सके। 

कुछ लोगों में एक अलग प्रकार का इलियोस्टोमी करवाते हैं। वे अपने मल त्याग को इकट्ठा करने के लिए किसी बैग का उपयोग नहीं करते हैं। इसके बजाय, उनकी आंत से बनी एक आंतरिक थैली होती है, जिसे वे दिन में कई बार “स्टोमा” के माध्यम से खाली करते हैं।

  • इलियोस्टोमी में अलग-अलग समस्याएं हो सकती हैं। कुछ या तो तुरंत हो सकती हैं या कुछ वर्षों के बाद। यदि आपको निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण या समस्या मेह्सूस होते है, तो अपने डॉक्टर को बताएं:

    • आपका स्टोमा गुलाबी के बजाय बैंगनी यानी के जामुनी या काले रंग का होने लगता है।
    • आपका स्टोमा सामान्य से अधिक सूजा हुआ या बड़ा लग रहा है, या आपके स्टोमा का किनारा उभड़ा हुआ लग रहा है।
    • आपका स्टोमा सामान्य से छोटा हो गया है।
    • आपका स्टोमा सामान्य से अधिक लीक (leak) यानी के रिसाव करता है।
    • आपको अपने स्टोमा के आसपास दाने या घाव जैसा मेह्सूस हो रहा है।
    • आपको दस्त होते हैं।
    • आपको अचानक पेट दर्द, ऐंठन, या मिचली आ रही है।
    • आप निर्जलित हो गए हैं। निर्जलीकरण (dehydration) तब होता है जब शरीर बहुत अधिक पानी खो देता है। निर्जलीकरण के लक्षणों में — सामान्य जितना पेशाब यानी के मूत्र नहीं होना या गहरे पीले रंग का मूत्र होना, या फिर ज़्यादा प्यास लगना, अधिक थका हुआ लगना, चक्कर आना, या भ्रमित मेह्सूस होना शामिल है।
    • आपने 4 से 6 घंटे (दिन के दौरान) के लिए अपने मल से गैस वाला अपशिष्ट निकाला नहीं है। इन लक्षणों का मतलब हो सकता है, कि आपका स्टोमा अवरुद्ध है।

जब लोगों इलियोस्टोमी करवाते हैं, तो उनका शरीर हमेशा दवाओं को सामान्य रूप से अवशोषित कर नहीं सकता। इस वजह से, गोलियों के बजाय तरल रूप की दवाइयों का उपयोग करने का प्रयास करें। “एंटरिक कोटेड” (enteric coated), “टाइम रिलीज़”  (time release) , या “विस्तारित रिलीज़” (extended release”) लेबल वाली गोलियां या दवाइयों को ना लें। आपका शरीर इन प्रकार की गोलियों को अच्छी तरह से अवशोषित नहीं कर सकता।

हाँ। जब लोग इलियोस्टोमी करवाते हैं, तो उनका शरीर हमेशा पानी, विटामिन, और लवण को सामान्य रूप से अवशोषित नहीं कर सकता है। इस वजह से, आपको निर्जलित होने से बचने के लिए बहुत सारे तरल पदार्थ पीने चाहिए।

आपको उन खाद्य पदार्थों को नहीं खाना चाहिए जो आसानी से आपकी आंत या स्टोमा को अवरुद्ध कर सकते हैं। इनमें से कुछ खाद्य पदार्थ हैं — पॉपकॉर्न, मशरूम, सूखे फल, और छिलके वाले फल या सब्जियां — और इनके जैसे और कई खाद्य पदार्थ को टालें।

आपके द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ आपके मल त्याग की गंध को, एवं मल कितने ठोस या ढीले हैं, इसको प्रभावित कर सकते हैं। कुछ खाद्य पदार्थ आप में अधिक गैस भी पैदा सकते हैं।

आपको अपने इलियोस्टोमी के साथ एक सक्रिय और सामान्य जीवन जीने में सक्षम हो सकते हैं। लेकिन बहुत से लोग निम्नलिखित चीजों के बारे में चिंता करते हैं:

  • कपड़े – आपको विशेष कपड़े पहनने की आवश्यकता नहीं है। अन्य लोग आपके बैग को आपके कपड़ों के भीतर से नहीं देख पाएंगे।
  • स्नान और शावर्स – आप अपने बैग के साथ या उसके बिना भी आसानी से स्नान कर सकते हैं।
  • खेल – आप, शायद, सब खेल-क्रिडा, खेलने में सक्षम होंगे। आपको अपने बैग की सुरक्षा के लिए एक विशेष बेल्ट पहननी पड़ेगी, जो उसे स्थिर रख सकती है। आमतौर पर डॉक्टर सलाह देते हैं कि, इलियोस्टोमी वाले लोग कुछ संपर्क खेल (जैसे फुटबॉल) या ऐसे कोई खेल नहीं खेलें जिनमें तनाव हो सकता है, जैसे की भारी वजन उठाना।
  • तैराकी – आप अपने बैग के साथ तैर भी सकते हैं। तैरने से पहले अपना बैग खाली करना सुनिश्चित तौर से ना भूलें।
  • सेक्स – आप सेक्स भी कर सकते हैं। लेकिन आप सेक्स के दौरान अपने बैग की सुरक्षा (और कवर यानी के छीपाने) के लिए एक विशेष रॅप (wrap) पहनना चाह सकते हैं।
  • यात्रा – जब आप यात्रा करते हैं, तो अपने इलियोस्टोमी के लिए अतिरिक्त आपूर्ति लाना बिना भूले सुनिश्चित करें। यदि आप हवाई-जहाज़ से कहीं जा रहें हैं, तो अपने कैरी-ऑन (carry-on) सामान में अपनी आपूर्ति अवश्य लें।

जब आपने इलियोस्टोमी करवायी हो, तो कभी थोड़ा उदास, परेशान, या चिंतित मेह्सूस होना सामान्य है। यदि आप ऐसी भावनाएं अनुभव कर रहें हैं, तो किसी से सहायता प्राप्त करने का प्रयास करें। आप, अपने परिवार के किसी सदस्य, दोस्त, या काउंसलर से बात कर सकते हैं। इलियोस्टोमी वाले लोगों के लिए सहायता समूह में भी जाना, आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकता है।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Dr. Harsh J Shah