गैस्ट्रोपेरेसिस (गैस्ट्रिक खाली करने में देरी)

गैस्ट्रोपेरेसिस जठर खाली होने में देरी के स्पेशियालिस्ट

गैस्ट्रोपेरेसिस (जठरांत्र) एक ऐसी स्थिति है जिसमें मतली और उल्टी होती है। यह आपको खाना शुरू करने के तुरंत बाद ही भरा हुआ महसूस करा सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पेट को खाली होने में बहुत समय लगता है, और यह आपके शरीर के माध्यम से भोजन को तेजी से (पाचन के लिए) आगे नहीं बढ़ाता है (चित्र 1)। गैस्ट्रोपेरेसिस को “विलंबित गैस्ट्रिक खाली करने वाला” भी कहा जाता है। [“गैस्ट्रिक” (Gastric) का अर्थ होता है – “पेट से सम्भंधित।”]

डायबिटीज (Diabetes) यानी के मधुमेह वाले लोगों में गैस्ट्रोपेरेसिस बहुत ही आम समस्या है। यह उन लोगों को भी हो सकता है जिन्हें फूड पॉइज़निंग (Food poisoning) (गैस्ट्रोएंटेराइटिस – gastroenteritis) हुआ है। लेकिन यह कभी-कभी ऐसे लोगों को हो सकता है जो बीमार नहीं हैं और जिन्हें मधुमेह (डायबिटीज – Diabetes) नहीं है।

जब किसी को फूड पॉइज़निंग के बाद गैस्ट्रोपेरेसिस शुरू होता है, तो यह अक्सर कुछ दिनों से लेकर हफ्तों में ठीक हो जाता है। कभी-कभी यह इससे भी लंबे समय तक रहता है या कभी ठीक ही नहीं होता है। मधुमेह वाले लोगों में, यह आमतौर पर ठीक नहीं होता है, लेकिन ऐसी चीजें (इलाज) हैं जो इसे बेहतर बना सकती हैं।

लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:

  • उल्टी के साथ या उल्टी के बिना मतली आना 
  • पेट दर्द
  • खाना शुरू करने के तुरंत बाद ही पेट भरा हुआ महसूस करना
  • सूजन या फुलान (ऐसा महसूस होना जैसे आपका पेट हवा से भरा है)
  • वजन घटना

हाँ। यदि आपके डॉक्टर को संदेह है कि आपको गैस्ट्रोपेरेसिस है, तो वह इन परीक्षणों में से 1 या अधिक कर सकते हैं:

  • एंडोस्कोपी (Endoscopy) – डॉक्टर आपके गले में se पेट में एक पतली ट्यूब डालते हैं। ट्यूब — जिसे एंडोस्कोप (Endoscope) कहा जाता है — के अंत में एक प्रकाश वाला, छोटा कैमरा होता है। इससे डॉक्टर को आपके पेट के अंदर देखने की सहूलियत देता है। 

   यदि आपको खाना खाए हुए 8 घंटे से अधिक समय हो गया हो, और डॉक्टर को उसके बाद    अभी भी आपके पेट में भोजन दिखता है, तो यह एक संकेत है कि आपको गैस्ट्रोपेरेसिस हो सकता है।

  • बेरियम फ़ोलो थ्रू (Barium Follow-through) , सीटी स्कैन (C.T. Scan), या एमआरआई (MRI) – इन परीक्षणों के लिए आप एक विशेष पदार्थ खाते हैं जो इमेजिंग पर दिखाई देता है। यह दिखा सकता है कि क्या कोई चीज भोजन के प्रवाह को अवरुद्ध कर रही है, या इसे आपके पेट को से निकलने से रोक रही है।
  • गैस्ट्रिक एमपटियिंग स्किंटिग्राफी (Gastric emptying scintigraphy)- इस परीक्षण के लिए आप ऐसा खाना खाते हैं जिसमें थोड़ी मात्रा में रेडियोधर्मी (radioactive) पदार्थ होता है। फिर 4 घंटे तक, आपके शरीर के अंदर की छवियों निकलते हैं। इस तरह, डॉक्टर को दिखता है की भोजन कहाँ जाता है, और वहाँ कितनी जल्दी पहुँचता है। यदि 4 घंटे के बाद भी आपके पेट में उचित मात्रा में भोजन पद मिलता है, तो इसका मतलब है कि आपको गैस्ट्रोपेरेसिस है।
  • सांस का परीक्षण – यह एक नया परीक्षण है जो आपके एक विशेष भोजन खाने के बाद आपकी सांस में पदार्थों को मापता है। माप कभी-कभी दिखा सकते हैं यदि आपको गैस्ट्रोपेरेसिस है।

हाँ। कुछ लोग बेहतर महसूस करते हैं यदि वे:

  • दिन में 2 या 3 बड़े के बजाय 4 से 5 छोटे भोजन खाएं।
  • खाना खाने से पहले भोजन को ब्लेंडर में पिस डालें।
  • ऐसे खाद्य पदार्थों में कटौती करें जिनमें बहुत अधिक वसा (चेरबी) होती हो, जैसे कि पनीर और तले हुए खाद्य पदार्थ।
  • ऐसे खाद्य पदार्थों में कटौती करें जिनमें बहुत सारे “अघुलनशील” (Insoluble) फाइबर होते हैं, जैसे कि कुछ फल, सब्जियां, और बीन्स।
  • सोडा की जैसे फ़िज़ी पेय को टालें, क्योंकि वे अधिक फूलन और गैस पैदा कर सकते हैं
  • शराब और धूम्रपान को टालें

यदि आपको मधुमेह है, तो अपने रक्त-शर्करा (Blood Sugars) को यथासंभव सामान्य स्तर पर रखना बहुत महत्वपूर्ण है।

यदि आपको मतली या उल्टी, पेट दर्द, खाने में परेशानी, या वजन कम हो रहा है, तो तुरंत अपने चिकित्सक को दिखाएँ। 

निम्न कुछ उपचार हो सकते हैं:

  • ऐसे उपचार जिस्से आपको आवश्यक भोजन और तरल पदार्थ ग्रहण करने में सहयता हो। इसमें कदाचित तरल भोजन की खुराक लेना की आवश्यकता हो सकती है – या अति-दुर्लभ मामलों में – एक ट्यूब के माध्यम से खाना खिलाया जा सकता है।
  • दवाएं जो पेट को तेजी से खाली करती हैं
  • दवाएं जो मतली को रोकने में मदद करती हैं
  • पेट को ट्यूब से खाली करना – ऐसा करने के लिए, डॉक्टर आपकी त्वचा के माध्यम से या आपके गले में से सीधे आपके पेट में एक ट्यूब डाल सकते हैं।
  • पेट को विद्युत से उत्तेजना – बहुत दुर्लभ मामलों में, डॉक्टर पेट को खाली करने के लिए विद्युत उत्तेजना का उपयोग करते हैं।
Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Dr. Harsh J Shah