...
पेप्टिक अल्सर का इलाज

पेट के अस्तर (पतली परत) या गले में ग्रहणी (ड्यूओडीनम –  duodenum) पर बनने वाली एक खराश को पेप्टिक अल्सर कहते हैं। ग्रहणी छोटी आंत का पहला भाग होती है।

पेप्टिक अल्सर वाले कुछ लोगों में कोई लक्षण नहीं होते हैं। अन्य लोगों में लक्षण निम्न जैसे हो सकते हैं:

  • ऊपरी पेट में दर्द – अक्सर व्यक्ति के खाने के तुरंत बाद, पेट में अल्सर के कारण दर्द होता है। अक्सर किसी व्यक्ति का पेट खाली होने पर, ग्रहणी में अल्सर के कारण, दर्द या जलन का कारण बनता है।
  • भोजन की थोड़ी मात्रा खाने के बाद सूजन या फूलन या भरा हुआ महसूस होना
  • भूख न लगना
  • मितली अथवा उलटी

ये सभी लक्षण अन्य स्थितियों के कारण भी हो सकते हैं। लेकिन अगर आपक्को ऐसे ये लक्षण मेह्सूस होते हैं, तो अपने डॉक्टर को तुरंत बताएं।

कभी-कभी पेप्टिक अल्सर से गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। जैसे की:

  • रक्तस्राव – इसके कारण बदबूदार और काले रंग का मल त्याग, या फिर खून की उल्टी भी हो सकती है।
  • पेट या ग्रहणी की दीवार में एक छेद – इससे अचानक, और गंभीर या तीव्र पेट दर्द हो सकता है।
  • रुकावट या अवरुद्ध (Blockage) – जब आंत में कोई अवरुद्ध होता है। यह खाने के कुछ ही समय बाद परिपूर्णता, सूजन या फूलन, अपाचन, मतली, उल्टी, पेट दर्द की भावना पैदा कर सकता है, और वजन भी कम कर सकता है।

पेप्टिक अल्सर के सामान्य कारण इस प्रकार हो सकते हैं:

  • एक प्रकार के “एच. पाइलोरी” नामक बैक्टीरिया के कारण पेट या ग्रहणी में संक्रमण 
  • नोन-स्टेरोईडल एंटी-इंफ़्लेमेटरी द्रगज (nonsteroidal anti-inflammatory drugs) या संक्षेप में “एनएसएआईडी” (NSAIDs) – NSAIDs में दर्द निवारक दवाएं जैसे एस्पिरिन, इबुप्रोफेन (aspirin, ibuprofen), और नेप्रोक्सन (naproxen) नामक दवाएं शामिल हैं।

हाँ। यदि आपको पेप्टिक अल्सर के लक्षण मेह्सूस होते हैं, तो आपके डॉक्टर ऐसा कर सकता है:

एच.पाइलोरी संक्रमण की जाँच करने के लिए टेस्ट – डॉक्टर एच.पाइलोरी संक्रमण की जाँच कर सकते हैं:

  •  सांस की जांच – इस परीक्षण किसी व्यक्ति को पीने के लिए एक विशेष तरल दिये जाने के बाद उसकी सांस में ख़ास पदार्थों को मापते हैं
  •  लैब टेस्ट मल त्याग का एक नमूना को संक्रमण के लिए जाँचते हैं

• एक प्रक्रिया जिसे “अपर एंडोस्कोपी” (upper endoscopy) कहा जाता है – अपर एंडोस्कोपी के दौरान, डॉक्टर एक कैमरा वाली पतली ट्यूब को आपके मुंह से होकर पेट और ग्रहणी में डालते हैं। फिर वह पेट और ग्रहणी में अल्सर के लिए जांच करते ।

आपके कारण पर उपचार निर्भर करता है, लेकिन अधिकांश पेप्टिक का इलाज अल्सर दवाओं से किया जाता है।

एच.पाइलोरी संक्रमण वाले लोगों को अक्सर संक्रमण से छुटकारा पाने के लिए 2 सप्ताह के लिए 3 या अधिक दवाओं se इलाज किया जाता है। निम्न जैसे उपचार हो सकते हैं:

  • पेट में बनने वाले एसिड की मात्रा को कम करने के लिए दवा
  • विभिन्न प्रकार के एंटीबायोटिक्स (antibiotics) 

कुछ लोगों को ऐसी दवाएं, जो एसिड की मात्रा को अधिक समय तक कम करते हैं, लेने की ज़रूरत होती है। कुछ लोग इन दवाओं को जीवन भर लेनी पड़ती हैं।

अपनी दवाएं लेने के बारे में अपने डॉक्टरों के सभी निर्देशों का पालन करना अत्यंत ही महत्वपूर्ण है। अपने चिकित्सक को बताएं कि, क्या आपकी दवाओं से कोई दुष्प्रभाव मेह्सूस हुआ है।

जिन लोगों को उनके पेप्टिक अल्सर से गंभीर समस्याएं हैं, उन्हें सर्जरी से भी इलाज करने की आवश्यकता हो सकती है।

उपचार के बाद, लोगों को अक्सर अनुवर्ती परीक्षण करवाने होते हैं। इनमें शामिल हो सकते हैं:

  • एच.पाइलोरी संक्रमण मिट गया है उसकी ख़ास जांच परीक्षण
  • पेप्टिक अल्सर ठीक हो गया है यह जाँच करने के लिए अपर एंडोस्कोपी

पेप्टिक अल्सर को ठीक करने और भविष्य के पेप्टिक अल्सर को रोकने के लिए, आप निम्न कर सकते हैं:

  • धूम्रपान नहीं करें
  • • NSAIDs न लें (यदि संभव हो तो)
Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Seraphinite AcceleratorOptimized by Seraphinite Accelerator
Turns on site high speed to be attractive for people and search engines.