अपर एंडोस्कोपी

ऊपरी एंडोस्कोपी के स्पेशियालिस्ट

अपर एंडोस्कोपी एक ऐसी प्रक्रिया है जो डॉक्टर को ऊपरी पाचन तंत्र के अस्तर (पत्ली परत) को देखने की सुविधा देती है। पाचन तंत्र के ऊपरी भाग में — अन्नप्रणाली (मुंह से पेट को जोड़ने वाली ट्यूब), पेट और ग्रहणी (छोटी आंत का पहला हिस्सा) नामक अंग शामिल होते हैं।

आपके डॉक्टर, आपको अपर एंडोस्कोपी तब करवा सकते हैं, जब आपको:

  • आपके ऊपरी पेट में दर्द हो जिसको आप स्पष्ट रूप से साबित या समझा नहीं कर सकते
  • “एसिड रिफ़्ल्क्ष रिफ़्ल्क्स” (Acid Reflux) नामक एक स्थिति हो 
  • मतली और उल्टी जो लंबे समय तक चली है
  • डायरिया जो लंबे समय तक बना रहे
  • आपकी आंत्र में काली मल त्याग या रक्त बह रहा हो 
  • निगलने में परेशानी या भोजन आपके गले में अटक जाने की भावना हो 
  • आपके पाचन तंत्र के अन्य परीक्षणों में असामान्य परिणाम
  • एक ऐसी वस्तु निगलली हो जिसे आपको निगलना नहीं चाहिए
  • आपके पाचन तंत्र में वृद्धि या अल्सर था, और आपका डॉक्टर जाँचना चाहते हैं
3 लक्षणों की जांच

आपके डॉक्टर, आपको अपर एंडोस्कोपी से पहले क्या-क्या करने चाहिए, उसके बारे में निर्देश देंगे। वह आपको बताएँगे कि — आपको क्या खाने या पीने को टालने की ज़रूरत है, या पहले से अपनी कोई भी दवा लेना बंद करनी है। जैसे ही आप निर्देशों को प्राप्त करें, उन्हें पढ़ना सुनिश्चित करें। परीक्षण से एक हफ़्ते पहले आपको कुछ दवाओं को लेना बंध भी करना पड़ सकता है। यदि आपके अपर एंडोस्कोपी के लिए तैयार होने में परेशानी हो तो अपने डॉक्टर को बताएं।

आपके डॉक्टर आपको एक आयी.व्ही (IV) लगाएँगे — एक पतली ट्यूब जो आपके एक नस में जाती है। आपको आराम महसूस करने के लिए IV के माध्यम से दवाएं मिलेंगी। वह आपके मुंह को सुन्न करने के लिए, आपको एक मुंह स्प्रे दे सकते हैं, या गार्गल यानी के कुल्ला भी करवा सकते हैं। आपको अपने दांतों की सुरक्षा के लिए प्लास्टिक माउथ गार्ड भी मिलेगा।

फिर आपके डॉक्टर एक प्रकाश वाले कैमरा लगायी हुई पतली ट्यूब को आपके मुंह में से, और घुटकी से नीचे होकर, आपके पेट और ग्रहणी तक डालेंगे। वह जलन, खून बहता हो, अल्सर, या कोई विशेष वृद्धि के लिए उस क्षेत्र का निरीक्षण करेंगे।

अपर एंडोस्कोपी के दौरान, आपके डॉक्टर निम्न भी कर सकते हैं:

  • बायोप्सी (biopsy) नामक एक परीक्षण करें – बायोप्सी के दौरान, डॉक्टर पाचन तंत्र के अस्तर (पतली परत) से ऊतक का एक छोटा सा टुकड़ा (नमूना) लेते हैं – (आप इसे महसूस भी नहीं करेंगे)। उसके बाद, वह एक माइक्रोस्कोप के तहत इस ऊतक का निरीक्षण करेंगे।
  • उन समस्याओं का इलाज करें जो उन्हें दिखती हैं – उदाहरण के लिए, डॉक्टर रक्तस्राव को रोक सकते हैं, या कभी-कभी कोई विशेष वृद्धि को हटा भी सकते हैं। यदि अन्नप्रणाली के संकीर्ण क्षेत्रों को निगलने में परेशानी होती है, तो वह अन्नप्रणाली के किसी भी संकीर्ण क्षेत्रों को चौड़ा कर सकते हैं। 

अपर एंडोस्कोपी के बाद, आपको 1 से 2 घंटे तक निरीक्षण में देखने के लिए रक्खा जाएगा जब तक कि दवाएं काम करनी बंद न हो जाएं। अधिकांश डॉक्टर सलाह देते हैं कि, लोग अपर एंडोस्कोपी के बाद काम पे ना जाएँ या फिर कोई वाहन ना चलाएँ। अगले दिन अधिकांश ड्राइव भी कर सकते हैं, और काम पर वापस जा सकते हैं।

2 एंडोस्कोपी

सबसे आम दुष्प्रभाव होता है — फूला हुआ महसूस करना। प्रक्रिया से पहले इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं के कारण कुछ लोगों को मतली होती है। यदि आपके साथ ऐसा होता है, तो आपके डॉक्टर आपको मतली में बेहतर मेह्सूस करने के लिए दवाई दे सकते हैं। अधिकांश लोग प्रक्रिया के बाद हमेशा की तरह खा-पी सकते हैं।

अन्य दुष्प्रभाव आम नहीं हैं, लेकिन हो सकते हैं। इनमें निम्न हो सकते हैं:

  • पेट से भोजन, फेफड़ों में जा रहा हो 
  • रक्तस्राव, उदाहरण के लिए, कोई ऐसी विशेष वृद्धि को हटाने के बाद
  • पाचन तंत्र के अस्तर में कोई चिरें हो गयी हो
  • IV के आसपास की त्वचा पर लालिमा या सूजन होना

अगर आपको अपर एंडोस्कोपी के बाद निम्न में से कोई भी समस्या हो तो तुरंत अपने डॉक्टर को बुलाएँ:

  • पेट दर्द जो गैस के दर्द या ऐंठन से बहुत ज्यादा खराब होता है
  • फूला हुआ और कठोर लगता हुआ पेट
  • उल्टी होना 
  • बुखार
  • निगलने में तकलीफ या गले में तेज दर्द
  • काले रंग का मल त्याग होना 
  • गर्दन में, त्वचा के नीचे एक “क्रंचिंग” एहसास
Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Dr. Harsh J Shah