वयस्क में क्रोहन रोग के स्पेशियालिस्ट

क्रोहन रोग एक ऐसा विकार है जो दस्त, पेट दर्द, और पाचन तंत्र को प्रभावित करने वाले अन्य लक्षणों का कारण बन सकता है। पाचन तंत्र शरीर का वह भाग है जो भोजन को अंदर तक ले जाता है, और उसे पाचन करता है। इसमें मुंह, पेट, और आंतें  शामिल होती हैं।

जब यह सामान्य रूप से काम कर रहा होता है, तो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कीटाणुओं और “खराब” कोशिकाओं को मार देती है जो कैंसर में बदल सकती है। कभी-कभी कुछ गलत हो जाता है, जिस्से केवल खराब कोशिकाओं को मारने के बजाय, शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली, शरीर की ही स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करना शुरू कर देती है। इसे “स्वप्रतिरक्षी प्रतिक्रिया” (“autoimmune response”) कहा जाता है। क्रोहन रोग में यही होता है। यदि आपको क्रोहन रोग है, तो आपका शरीर आपके पाचन तंत्र की पतली परत पर हमला कर रहा है। जिस्से अंद्रोनी सूजन हो जाती है, और घाव यानी अल्सर (ulcers) और रक्तस्राव भी हो सकता है।

क्रोहन रोग के लक्षण अलग-अलग समय पर बेहतर या बदतर हो सकते हैं। यह तय है की क्रोहन रोग को ठीक नहीं किया जा सकता है। लेकिन सौभाग्य से, दवाएं और अन्य उपचार हैं जो इसके लक्षणों में काफ़ी सुधार ला सकते हैं।

  • सबसे आम लक्षण — दस्त, पेट दर्द, थकान महसूस करना, वजन कम होना, और बुखार है। क्रोहन रोग से पीड़ित कुछ लोगों को मुंह में छाले, त्वचा पर चकत्ते, जोड़ों में दर्द, और आंखों का लाल हो जाना, जैसे लक्षण भी होते हैं।

हाँ। कुछ परीक्षण हैं जो क्रोहन रोग का निदान करने में मदद कर सकते हैं। डॉक्टर ऊपरी आंत को देखने के लिए एक्स-रे (X–Rays) या स्कैन्स (Scans) का उपयोग करते हैं, और निचली आंत को देखने के लिए “कोलोनोस्कोपी” (Colonoscopy) नामक एक परीक्षण करते हैं। यह कोलोनोस्कोपी के दौरान, डॉक्टर आपके गुदा तथा मलाशय और बृहदान्त्र में एक पतली ट्यूब डालते हैं। ट्यूब में एक कैमरा लगा होता है, जिससे डॉक्टर आपके कोलन के अंदर और आपकी छोटी आंत के पिछले भाग को देख सकते हैं।

आपके लक्षणों के आधार पर, आपको अन्य परीक्षण भी करवाने की आवश्यकता हो सकती है। इससे आपके डॉक्टर को यह पता लगाने में मदद हो सकती है, कि क्या क्रोहन रोग के अलावा कोई और वजह है जो आपमें ऐसे लक्षण पैदा कर रही है।

  • हाँ। आपके लक्षणों में सुधार हो सकता है, यदि आप:

    • उन खाद्य पदार्थों पर कटौती करें जो आपके लक्षणों को बदतर बनाते हैं। कुछ लोगों को ऐसे खाद्य पदार्थों से समस्या होती है जिनमें बहुत अधिक फाइबर होता है, जैसे कि फल और सब्जियां।
    • यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो धूम्रपान छोड़ दें। धूम्रपान आपके लक्षणों को बदतर बनाता है, और आपको सर्जरी की आवश्यकता होने की संभावना बढ़ाता है।
    • इबुप्रोफेन (Ibuprofen) (नमूना ब्रांड नाम: मोट्रिन – Motrin, एडविल – Advil) और नेप्रोक्सन (नमूना ब्रांड नाम: एलेव – Aleve) जैसी दवाओं लेने से टाले।

कई अलग-अलग दवाएं हैं जो क्रोहन रोग के लक्षणों को कम करने में मदद करती हैं। इन दवाओं, में से लगभग सभी सूजन और शरीर की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को कम करके, असर करती हैं। कुछ दवाएं लक्षणों, जब वे अपने सबसे खराब स्थिति में होते हैं, तब उनका का इलाज करती हैं। अन्य दवाएं लक्षणों के शुरू ना होने या वापस ना आने जैसा बनाए रखने में मदद करती हैं।

आपके लिए सबसे उचित काम करने वाली दवाई को खोजने से पहले आपको कुछ अलग दवाओं की कोशिश करनी पड़ सकती है।

यदि आपके लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए दवाइयाँ पर्याप्त नहीं हैं या यदि दवाएँ साइड इफेक्ट्स (Side Effects) का कारण बनती हैं तो सर्जरी सहायक होती है। सर्जरी बीमारी को ठीक नहीं करती है, लेकिन यह आपको बेहतर महसूस करने और सामान्य गतिविधियों करने में मदद कर सकती है। क्रोन रोग के उपचार के लिए सर्जरी के 2 सबसे सामान्य प्रकार:

  • बृहदान्त्र के रोगग्रस्त भाग को हटाना
  • बृहदान्त्र के हिस्से जो अवरुद्ध हो गए हैं उन्हें फिर से खोलना

कदाचित हाँ। आपका जोखिम इस बात पर निर्भर करता है कि आपको यह कब से है, और क्या आपका कोलोन (Colon) प्रभावित हुआ हैं या नहीं। विशेषज्ञों का सुझाव है कि बृहदान्त्र को प्रभावित करने वाले दीर्घकालिक क्रोहन रोग वाले लोगों को नियमित रूप से कोलोनोस्कोपी से जांच करवानी चाहिए।

क्रोहन रोग वाले लोगों को अक्सर आजीवन उपचार की आवश्यकता होती है। लेकिन उपचार के साथ, हालत वाले कई लोग काफी सामान्य जीवन जीने में सक्षम हैं।

ज्यादातर मामलों में, क्रोहन रोग एक महिला के गर्भवती होने की क्षमता को प्रभावित नहीं करता है। यदि आप गर्भवती होना चाहती हैं, तो गर्भवती होने की कोशिश शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें। आपके डॉक्टर यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपको अपनी गर्भावस्था से पहले, और उसके दौरान सभी परीक्षणों की आवश्यकता है। इसके अलावा, आपके डॉक्टर आपकी दवाओं को शायद बदलना चाह सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि क्रोहन रोग के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कुछ दवाएं शायद शिशु के लिए सुरक्षित न हों।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Dr. Harsh J Shah