ईओसिनोफिलिक एसोफैजायटिस

ईओसिनोफिलिक इसोफैजायटिस का इलाज

ईओसिनोफिलिक एसोफैजायटिस एक ऐसी स्थिति या बीमारी है जो आपके अन्नप्रणाली को प्रभावित करती है — वह नली जो मुंह से पेट तक भोजन को ले जाती है ।इस स्थिति को संक्षेप में “ईओई” (EoE) कहा जाता है। ईओई में, अन्नप्रणाली में “ईोसिनोफिल्स” (Eosinophils) नामक कोशिकाएं होती हैं। ईोसिनोफिल्स एलर्जी कोशिकाएं होती हैं जो आमतौर पर अन्नप्रणाली में नहीं पाई जाती हैं।

डॉक्टर्स यक़ीन से नहीं कह सकते कि ईओई किस कारण से होता है। लेकिन उनके अनुभव से सोचते हैं कि यह एलर्जी के कारण हो सकता है, विशेष रूप से खाद्य पदार्थ की एलर्जी।

ईओई कभी-कभी परिवारिक होता है। यह बच्चों और वयस्कों दोनों में हो सकता है।

किसी भी व्यक्ति की आयु के आधार पर अलग-अलग लक्षण हो सकते हैं।

आमतौर पर, वयस्कों और किशोर में लक्षण ऐसे होते हैं:

  • निगलने में परेशानी – यह सबसे आम लक्षण है। लोगों को आमतौर पर ठोस खाद्य पदार्थ निगलने में परेशानी होती है। कुछ लोगों को निगलने में दर्द होता है या ऐसा महसूस होता है कि भोजन उनके गले या छाती में फंस गया है
  • सीने या ऊपरी पेट में दर्द होना 
  • सीने में जलन (हार्टबर्न – heartburn) जो हार्टबर्न के इलाज के लिए दवा लेने के बाद बेहतर नहीं होती है

आमतौर पर, बच्चों में लक्षण ऐसे होते हैं:

  • खाना खिलाने की समस्याओं, जैसे कि ठोस खाद्य पदार्थ खाने से इनकार करना
  • उलटी अथवा मितली होना 
  • पेट दर्द होना 

हाँ। अपर एंडोस्कोपी, इस स्थिति की जांच के लिए अक्सर किया जाने वाला परीक्षण है। अपर एंडोस्कोपी के दौरान, डॉक्टर – जिन्हें गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट (gastroenterologist) कहा जाता है – एक पतली ट्यूब (जिसके अंत में एक प्रकाश वाला कैमरा होता है) आपके मुंह में, और आपके घुटकी  में डालते हैं। वह अन्नप्रणाली के पतली से परत (जिसे लायनिंग कहते हैं) को देखेंगे, और इसके छोटे नमूने लेंगे। एक अन्य डॉक्टर फिर माइक्रोस्कोप के तहत कोशिकाओं को देखेंगे कि क्या आपको ईओई हुआ है या नहीं।

आमतौर पर, उपचार में आहार में परिवर्तन, और दवाएं शामिल होती हैं:

  • आहार में परिवर्तन – आपके डॉक्टर, आपको उन खाद्य पदार्थों को टालने को कहंगे जो आपके लक्षणों का कारण हो सकते हैं। ऐसा करने के 3 मुख्य तरीके हैं, जैसे की:
  •  उन खाद्य पदार्थों से को टालें जो आमतौर पर ईओई (EoE) का कारण बनते हैं
  • उन खाद्य पदार्थों से को टालें जिनसे आपको एलर्जी है – जिन खाद्य पदार्थों से आपको एलर्जी है, उनका पता लगाने के लिए, आपको एक एलर्जीस्ट (एलर्जी चिकित्सक) को पास जाँच और परीक्षण करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • ख़ास तौर से केवल तरल आहार लेना शुरू करें, और सभी ठोस खाद्य पदार्थों को टालें

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपको आवश्यक पोषण प्राप्त हो, आपका डॉक्टर आपको आहार विशेषज्ञ (खाद्य विशेषज्ञ) की सलाह लेने को कह सकते हैं। आपके लक्षणों में सुधार होने के बाद, आप अपने आहार में वर्जित खाद्य पदार्थों को वापस शामिल कर पाएंगे।

  • दवाएं – ईओई के इलाज के लिए डॉक्टर विभिन्न दवाओं का उपयोग कर सकते हैं। एक दवाई को “प्रोटॉन पंप इनहिबिटोर या अवरोधक” (proton pump inhibitor) कहा जाता है। आमतौर पर, जब पेट का एसिड, जो आमतौर पर पेट में ही होता है, घुटकी में वापस आ जाता है, तब इस दवाई का उपयोग एसिड रिफ्लक्स (Acid Reflux) के इलाज के लिए किया जाता है। ईओई वाले लोगों में कभी-कभी एसिड रिफ्लक्स होता है, लेकिन यह दवा ईओई का भी इलाज कर सकती है।

अन्य दवाओं में स्टेरॉयड (Steroid) शामिल हैं, जो सूजन को कम करने में मदद करते हैं। (ये वैसी स्टेरॉयड नहीं हैं जैसे कुछ एथलीट अवैध रूप से लेते हैं)। कभी-कभी, स्टेरॉयड एक उपकरण या डिवाइस (device) में आते हैं जिसे इनहेलर (Inhaler) कहा जाता है, या फिर एक अलग उपकरण जिसे “नेबुलाइज़र” (Nebulizer) कहा जाता है, लेकिन आप स्टेरॉयड को सांस द्वारा नहीं लेते हैं, जिस तरह से आप सामान्य रूप से इनहेलर के द्वारा इस दवाई को लेते हैं। इसके बजाय, आप दवाई को अपने मुंह में जमा होने देते हैं, और फिर आप सारी दवाई एक साथ निगल जाते हैं। अन्य समय, स्टेरॉयड एक तरल पदार्थ या गोली के रूप में आते हैं।

कुछ लोगों में, ईओई की ऐसी एक स्थिति बन सकती है जिसे एसोफैगल स्ट्रीक्चर (esophageal stricture) कहा जाता है, जिसमें अन्नप्रणाली की संकीर्णता होती है। जब दवाईओं से सुधार नहीं होता, तब उन लोगों में एसोफैगल स्ट्रीक्चर के लिए मुख्य उपचार घुटकी को चौड़ा करने के लिए एक प्रक्रिया है, जिसे “डायलेशन” (Dilation) यानी के ‘फैलाना’ कहा जाता है। यह प्रक्रिया एंडोस्कोपी के दौरान की जाती है।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Dr. Harsh J Shah