अकलसीया

अकेलेसिया का इलाज

अकलसीया एक ऐसी अवस्था है, जो अपने इसोफेगस (esophagus) यानी घेघा मतलब की अन्ननली, को असर करती है.इसोफेगस आपके अन्न को मुह से लेकर पेट तक ले जाती है.

जहां यह पेट को जुड़ जाती है, वहां इस नली के अंत (आख़िरी छोर) पर एक स्नायु है जिसको लोअर इसोफेगल स्फींक्टर एल. ई. एस. (lower esophagal sphincter – L.E.S.) कहते हैं.

यह एल. ई. एस. जब सिकुड़ जाता है, तब खाना इसोफेगस से पेट तक जा नहीं सकता.

जब यह एल. ई. एस. साधारण अवस्था में / ढीला (relaxed) होता है, तब खाना आराम से पेट तक जा सकता है

1) जब इसोफेगस का शेष भाग जब सही काम ना कर रहा हो.

2) जब एल. ई. एस. साधारण अवस्था मतलब – चौड़ा / ढीला (relaxed) नही हो सकता.

अकलसीया के, आमतौर पर, लक्षणों में – खाद्य पदार्थ और पेय निगलने में कठिनाई या परेशानी होना है।

अन्य लक्षणों इस प्रकार हो सकते हैं:

  • छाती में दर्द
  • उल्टी
  • सीने में जलन
  • ऐसा महसूस करना कि आपके गले में गांठ है
  • बिना वजह वजन कम हो जाना

हाँ। यदि आपके डॉक्टर को संदेह है कि आपको अचलासिया है, तो वह निम्नलिखित परीक्षणों में से कोई 1 या अधिक परीक्षण करने के लिए कहेंगे।

  • आपके इसोफेगस / एल.ई.एस में दबाव को मापना – आपके डॉक्टर एक पतली नली (ट्यूब/ tube) को आपके मुंह या नाक में से इसोफेगस / एल.ई.एस में डाल देंगे। यह ट्यूब वहां के दबाव को मापेगी। यह परीक्षण आपके डॉक्टर को यह सुनिश्चित करने के लिए बता सकता है कि, क्या आपको अचलासिया है या नहीं।
  • बेरियम (Barium) निगलना – आपके डॉक्टर आपको “बेरियम” नामक एक पेय देंगे। फिर वह एक्स-रे (X-Ray) लेंगे जब बेरियम आपके अन्नप्रणाली (आकृति) में धीरे से नीचे जा रहा हो।
  • ऊपरी एंडोस्कोपी (Upper Endoscopy) नामक प्रक्रिया – आपके डॉक्टर एक पतली नली (ट्यूब) को आपके मुंह के अंत (आख़िरी छोर) में, और आपके इसोफेगस / एल.ई.एस तथा पेट (आकृति) में एक कैमरा लगाएंगे। वह इसोफेगस और पेट में जो परत (lining) है उसको देखेंगे। आपके डॉक्टर, परत से ऊतक / टीशू (tissue) का एक छोटा नमूना लेकर एक माइक्रोस्कोप के तहत नमूने को देख सकते है।

आपके डॉक्टर अलग-अलग तरीकों से अचलसिया में आराम के उपचार कर सकते हैं। अचलसिया (achalasia) का स्थायी स्वरुप में इलाज नहीं हैं, लेकिन वे उपचार से सभी लक्षणों में सुधार / आराम दिलवा सकते हैं।

विभिन्न उपचारों इस प्रकार हैं:

  • दवाएं – विभिन्न दवाएं एल. ई. एस. (LES) में आराम दिलवा सकती हैं। लोग इन दवाओं को खाने से पहले ले सकते हैं।
  • एल.ई.एस. में दवा का एक शॉट – ऊपरी एंडोस्कोपी के दौरान, डॉक्टर आराम कराने के लिए एल.ई.एस. में दवा का एक शॉट दे सकते हैं।
  • एल.ई.एस. (L.E.S) को व्यापक / चौड़ा बनाना – एक ऊपरी एंडोस्कोपी के दौरान, डॉक्टर आपके मुंह के माध्यम से और इसोफेगस (esophagus) के नीचे की ओर एक विशेष गुब्बारा (special balloon) डालने के लिए एक पतली तार का उपयोग कर सकते हैं। गुब्बारे को तब तक पिचकाकर डाला जाता है जब तक वह एल.ई.एस. (L.E.S) तक नहीं पहुंच जाता। फिर आपके डॉक्टर एल.ई.एस. (L.E.S) को चौड़ा करने के लिए गुब्बारे में थोड़ी हवा भरते है। फिर वह गुब्बारे से हवा को बाहर निकाल देते है और उस तार को निकाल लेते है।
  • सर्जरी (Surgery) – आपके डॉक्टर, एल.ई.एस. (L.E.S) को चौड़ा करने के लिए एल.ई.एस. (L.E.S) को थोड़ी काट सकते हैं। यह पेट या छाती में छोटे कटौती करके, या ऊपरी एंडोस्कोपी के दौरान त्वचा में बिल्कुल भी कटौती किए बिना किया जा सकता है।

आपके लिए कौन कौन से सही उपचार है, यह चयन करने के लिए, अपने डॉक्टर से निश्चित रूप से बात करें। प्रत्येक उपचार के लाभों, जोखिमों और दुष्प्रभावों के बारे में उनसे अवश्य पूछें।

हाँ। आपको नियमित रूप से अपने डॉक्टर से संपर्क करने की आवश्यकता होगी। आपके डॉक्टर जाँच करेंगे कि आपका उपचार ठीक से काम कर रहा है, और यह कोई भी दुष्प्रभाव पैदा नहीं कर रहा है।

आपके डॉक्टर लंबे समय उपरांत आने वाली समस्याओं की जाँच भी करते रहेंगे। ऐसा इसलिए है क्योंकि एकैलेसिया से पीड़ित लोगों में कैंसर या इसोफेगस (esophagus) की अन्य समस्याओं के होने की सामान्य संभावना अधिक होती है।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Dr. Harsh J Shah