रेक्टोवजाइनल फिस्टुला के टॉप डॉक्टर

जब बड़ी आंत (मलाशय) के निचले हिस्से, और योनि के बीच एक असामान्य जुड़ाव बन जाता है तब उसे रेक्टोवजायिनल फिस्टुला कहते हैं। विभिन्न चीजें के कारण से रेक्टोवजायिनल फिस्टुला बन सकती हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • प्रसव और प्रसव के दौरान चोट – यह सबसे आम कारण है।
  • क्षेत्र में विकिरण (कैंसर के इलाज के लिए)
  • क्रोहन रोग (Crohn disease) (एक विकार जो दस्त, पेट दर्द, और पाचन संबंधी अन्य समस्याएं पैदा कर सकता है)
  • लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:

    • योनि से निकलने वाली गैस या मल
    • योनि से आने वाली बदबू
    • योनि में या उसके पास दर्द या जलन

हाँ। आपके लक्षणों के बारे में जानकर और परीक्षा यानी के टेस्ट करके, आपके डॉक्टर बता सकते हैं कि क्या रेक्टोवजायिनल फिस्टुला हुआ है। परीक्षा के लिए, डॉक्टर एक ही समय में आपकी योनि और आपकी गुदा के अंदर दस्ताने पहनकर उँगलियाँ डालेंगे।

  •  लेकिन आपको निम्न परीक्षण की भी आवश्यकता हो सकती है:
  • एक नीली डाई परीक्षण – इस परीक्षण के लिए, डॉक्टर एक कुंद सुई का उपयोग करके एक नीली डाई को आपके मलाशय में डालते हैं। फिर वह आपकी योनि में नीले रंग की जांच करते हैं।
  • इमेजिंग परीक्षण, जैसे कि एमआरआई (MRI) या सीटी स्कैन (Ct Scan) – ये परीक्षण शरीर के अंदर की तस्वीरें बनाते हैं।
  • रेक्टोवजायिनल फिस्टुला का इलाज, एक सर्जरी द्वारा उसकी मरम्मत करके और उसको बंद करके किया जाता है। सर्जरी के बाद, आपको निम्न उपाय करने चाहिए:

    • कई दिनों तक केवल तरल पदार्थ पिएं
    • ऐसे खाद्य पदार्थ खाएं जो आपको कम और छोटे मल त्याग बनाने में मदद करें। आपके डॉक्टर आपको इस आहार के बारे में अधिक बताएँगे, कि आपको इस पर और कितने समय तक रहना है।

    • “सिट्ज़” स्नान (Sitz Baths) करें – यह एक उथला, गर्म स्नान है जो योनि क्षेत्र को साफ, और ठीक करने में मदद करता है। ऐसा 2 से 3 दिनों के लिए, और प्रत्येक दिन में 30 मिनट के लिए दो बार “सिट्ज़” स्नान करें।

Facebook
Twitter
LinkedIn
WhatsApp
Email
Skype
Telegram
Dr. Harsh J Shah